वजन घटाने के लिए योग

मोटापा कम करने के लिए योग || best yoga for weight loss in hindi || Now Gyan

वजन घटाने के लिए योग: योग एक प्रकार का व्यायाम है। वह कोई भी क्रिया जिसमें शारीरिक अथवा मानसिक क्षमता का प्रयोग होता है, उसे योग कहा जाता है।

युवाओं को अपने शरीर तथा मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन योग करना चाहिए। चाहे तो वह सुबह दौड़ लगा सकते हैं, घूम सकते हैं, तैर सकते हैं तथा अन्य किसी भी क्रिया को कर सकते हैं। जो योग के अंतर्गत आती है।

  1. योग प्रारंभ में आराम से तथा बाद में तेजी से करना चाहिए।
  2. किसी भी योग अथवा आसन को एक तरीके पूर्ण ढंग से करना चाहिए।
मोटापा कम करने के लिए योग
मोटापा-कम-करने-के-लिए-योग

वजन अधिक होने के कारण :-

आजकल की चलती-फिरती दुनिया में वजन का बढ़ना एक प्रमुख स्वास्थ्य संबंधी समस्या बन चुकी है। युवाओं के अंदर भी यह समस्या अब अधिकतर देखने को मिलती है। जिसके प्रमुख कारण इस प्रकार हैं:

  • कम शारीरिक कार्य।
  • खराब भोजन ग्रहण करना।
  • खराब दिनचर्या।
  • मानसिक तनाव।

मोटापे के कारण हमारे शरीर में बहुत सी बीमारियां उत्पन्न हो जाती है। जैसे- डायबिटीज, उच्च रक्तचाप तथा दिल का दौरा पड़ना, इत्यादि। एक अच्छी दिनचर्या तथा स्वस्थ भोजन को ग्रहण करके हम अपने वजन को घटा सकते हैं।

yoga_for_weight_loss_in_hindi
yoga_for_weight_loss_beginners_hindi

शुरुआत में वजन घटाने के लिए प्रमुख योगासन व योग :

शुरुआत में हम वजन घटाने के लिए कुछ प्रमुख योगा,व्यायाम तथा आसन को कर सकते हैं। जिससे मोटापा कई हद तक कम हो जाएगा। लेकिन हमें मोटापे अथवा वजन को नियंत्रण में रखने के लिए अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना होगा और खानपान की प्रकृति में सुधार करना होगा। जिसके अंतर्गत हमें फास्ट-फूड, जंक-फूड और अनहेल्थी खान-पान को कम करना होगा। इसके साथ-साथ कई और महत्वपूर्ण बातों को जानना होगा। जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होंगी।

  1. पानी अधिक पीना।
  2. प्रतिदिन शारीरिक कार्य करना।
  3. मॉर्निंग वॉक, जॉगिंग करना।
  4. रस्सी कूद करना।

वजन घटाने के लिए प्रमुख आसन :-

शरीर के वजन को कम करने में आसनों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। हम इन आसनों को योग शिक्षक अथवा खुद मोबाइल की सहायता से सीख सकते हैं। यहां पर कुछ प्रमुख योगासनों का विवरण किया गया है। जिसके द्वारा आप 10 दिन के अंतर्गत अपना वजन घटा सकते हैं और अपने खुशहाल जीवन को जी सकते हैं।

त्रिकोणासन :-

वजन को कम करने के लिए त्रिकोणासन एक प्रभावी आसन है। जिसका प्रयोग आप प्रारंभिक अवस्था में कर सकते हैं। तत्पश्चात अपने वजन को नियंत्रित कर सकते हैं।

त्रिकोणासन करने की विधि :

  1. सर्वप्रथम आप सीधे खड़े हो जाएं।
  2. तत्पश्चात अपने पैरों को फैला है।
  3. एक हाथ से अपने पैर को छुए और दूसरा हाथ सीधे ऊपर उठाएं।

Top 10 beginner Yoga for weight loss

Health Gyan

इस प्रकार से आप त्रिकोणासन को कर सकते हैं। इस प्रक्रिया को सर्वप्रथम एक पैर पर करें तत्पश्चात दूसरे पैर पर इस आसन को कर सकते हैं। प्रतिदिन इस आसन को 4-5 बार करें। तत्पश्चात आप अपने वजन के अंतर को देख सकते हैं।

त्रिकोणासन के फायदे :

  • वजन में कमी।
  • मांसपेशियों में खिंचाव।
  • शरीर में लचीलापन।
  • रक्तचाप नियंत्रण।

उत्कटासन :-

उत्कटासन करने की विधि:

  1. सर्वप्रथम चटाई या योगा मैट बिछाये।
  2. उस पर खड़े हो जाएं।
  3. दोनों हाथों को आगे करके घुटनों को मोड़ लें।

अब आपके घुटनों पर इस आसन का संपूर्ण जोर पड़ेगा। जिससे आपका वजन संपूर्ण पैरों के बल अटक जाएगा। इससे आपका वजन अति तीव्र गति से कम होगा। आप इस आसन को नियमित रूप से 3-4 बार करते रहे।

उत्कटासन के फायदे :

  • जोड़ों के दर्द में लाभकारी।
  • कमर दर्द के लिए लाभकारी।
  • वजन में कमी।
  • पेट की चर्बी में कमी।

भुजंगासन :-

भुजंगासन करने की विधि:

  1. सर्वप्रथम चटाई बिछा ले ।
  2. चटाई पर पेट के बल लेट जाएं।
  3. साँस धीरे-धीरे अंदर बाहर करें।
  4. तत्पश्चात अपनी छाती तथा सिर को ऊपर उठाये।
  5. इस आसन को प्रतिदिन 4-5 बार दोहराएं।

भुजंगासन के फायदे :

  • पेट की चर्बी में कमी आना।
  • कमर दर्द में राहत।
  • पाचन तंत्र सुदृढ़ होना।
_weight_loos_tips_hindi
weight_loos_For_weight_loos_tips_hindi

पुरुषों तथा महिलाओं को वजन घटाने के लिए योग :-

आज के इस दौर में न केवल पुरुष बल्कि महिलाएं भी मोटापे से परेशान हैं। महिलाएं तथा पुरुष सही खानपान तथा योग के कुछ आसनों से अपना वजन कम कर सकते हैं। लेकिन आयुर्वेद में कहा गया है कि-“कोई भी योगासन तभी असर दिखाएगा, जब हम योगासन को प्रतिदिन करेंगे।

उसके साथ-साथ अच्छा व शक्ति-वर्धक भोजन का सेवन करेंगे। गलत खान-पान तथा नशीले-पदार्थों का सेवन, हमारे स्वास्थ्य को बहुत नुकसानदायक है। हमारे स्वास्थ्य में बहुत गहरा प्रभाव डालता है। जिसके कारण भी हमारा वजन अनियंत्रित रूप से बढ़ता रहता है।

महिलाओं के वजन कम करने के लिए प्रमुख आसन :

सर्वप्रथम महिलाओं को योगाभ्यास अथवा योग करने से पहले कुछ सावधानियों का ध्यान रखना होता है। यदि गर्भवती महिलाएं केवल बैठने वाले योगासन करें। तो वे अत्यधिक लाभकारी होते हैं।

  • तितली आसन।
  • ब्रज आसन ।
  • सुखासन।

पुरुषों के वजन कम करने के लिए प्रमुख आसन :

यदि आप आसनों को सही व तरीके पूर्ण ढंग से करेंगे। तो आपका वजन जल्द ही कम हो जाएगा। योग करने के लिए कुछ सावधानियों का ध्यान अवश्य रखना पड़ता है। जैसे –

  • भोजन करने के तुरंत बाद नहीं करना चाहिए।
  • कठिन आसनों को शुरुआत में ना करें।
  • सर्वप्रथम आसन-योग भुजंगासन तथा सूर्य नमस्कार इत्यादि से शुरुआत करें।

खड़े होकर वजन घटाने के लिए की जाने वाली चार महत्वपूर्ण आसन :-

एकपद अंगुष्ठासन :-

यह आसन वजन घटाने के लिए सर्वाधिक प्रभावशाली आसन माना जाता है। इसे करने के लिए सर्वप्रथम सीधे खड़े हो जाएं। उसके बाद एक पैर को आगे लाएं, हाथ उठाकर पैर की उंगली को पकड़े। अपनी कमर को सीधा रखें।

वृक्षासन :-

वृक्षासन को करने के लिए सीधे खड़े हो जाएं। उसके बाद दाएं पैर और बाएं पैर पर टकराए। हाथों को ऊपर की ओर नमस्कार मुद्रा में रखें। सांस अंदर बाहर करते रहे। इससे मोटापा कम होगा। शरीर को संतुलन मिलेगा।

ताड़ासन :-

इस आसन को करने के लिए वृक्षासन की भांति सीधे खड़े हो जाएं। तत्पश्चात दोनों हाथों को ऊपर करते हुए मिलाएं। पंजों पर खड़े हो जाए। इस आसन से हम पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं।

गरुड़ासन :-

गरुड़ासन को करने की एक सामान्य विधि है। सर्वप्रथम खड़े होकर अपने बाएं पैर को सीधा रखें दाएं पैर को बाएं पैर के घुटने के ऊपर से रखकर दाएं पैर को बाएं पैर की पिंडली की पीछे कस दें। दोनों को आपस में घुमाकर कस दें। इससे कमर तथा पेट की चर्बी कम होगी तथा मांसपेशियों में दर्द नहीं होगा।

GYM_vs_YOGA_in_HINDI
GYM_vs_YOGA_in_HINDI

>क्या योग जिम से बेहतर है?

वैसे तो योग और जिम दोनों शरीर के लिए ही है परंतु दोनों में काफी अंतर देखने को मिलता है।

  1. जिन युवाओं के लिए मनपसंदीदा जगह है, जबकि युवा वर्ग योग को बेरंगीन समझता है।
  2. व्यायामशाला में ज्यादा पैसे खर्च होते हैं,जबकि योग को हम कहीं पर भी कर सकते हैं।
  3. जिम केवल युवा तथा कुछ ही लोग करते हैं, जबकि योग को कोई भी कर सकता है।
  4. व्यायामशाला हमारी हमारे शरीर को बढ़ाता है, जबकि योगा से हम न केवल मानसिक अपितु शारीरिक रूप से भी स्वस्थ होते हैं।
  5. व्यायामविद्या में ट्रेनर की आवश्यकता होती है,जबकि योग हम बिना ट्रेनर की भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.